पिछले दिनों मित्रो के साथ चर्चा के दौरान मंदिर और पूजा (Temples and Prayers) विषय पर चर्चा प्रारम्भ हो गयी ,एक मित्र ने उनकी व्यस्तता का हवाला देते हुए कहा की मंदिर जाना एवं पूजा (prayers) करने के लिए समय निकालना उनके लिए संभव नहीं , अमूमन ये विचार सिर्फ उनके ही नहीं आज की व्यस्त जीवन शैली की वजह से बहुत से लोगो के है , वैसे भी जब जीवन में सब कुछ मन मर्जी से घटित हो रहा हो तो शायद Modern Lifestyle  के  बहुत कमलोग आध्यात्मिकता (spirituality) के लिए समय निकल पाते है परंतु क्या वाकई में देव दर्शन करने या न करने से कोई फर्क नहीं पड़ता ? Click to read other Blogs

नहीं ऐसा बिलकुल नहीं है देव दर्शन या भगवान (God) से प्रार्थना का भी एक तार्किक पहलू है । प्राचीन काल में जब भी मंदिर बनाये जाते थे  तब ऐसी जगह चुन कर मंदिर का निर्माण किया जाता था जंहा विशेष आकर्षण और सकारात्मक ऊर्जा (positive energy) हो. उसके बाद मंदिर के भवन के विशेष प्रकार का महत्व जो की गुम्बदाकार होता है और जिसमे ऊपर ऊर्जा की सुचालक धातु लगी होती है इस धातु का कार्य ब्रम्हांड से ऊर्जा ग्रहण कर भवन के भीतरी भाग को ऊर्जावान (Energetic) बनाने का होता है । भगवान के सामने हमेशा दीपक का जलते रहना और किसी भी व्यक्ति का बिना किसी नकारात्मक वस्तु या परिधान के भवन में प्रवेश इस ऊर्जा में वृद्धि करता है इसके उपरांत हमारे Mantra, Jap और Havan जिनके बारे वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध है की उनसे  विशेष सकारात्मक ऊर्जा (Positive Energy) का निर्माण होता है अतः ये सब मिल कर उस जगह को अत्यधिक ऊर्जावान बनाते है और वंहा जा भगवन के दर्शन करने वाले में उस ऊर्जा (Energy) का प्रभाव पैदा करते है। Click to read other Blogs

 

इसी प्रकार प्राण प्रतिष्ठा देवो की मूर्ति में  एक विशेष ऊर्जा और आकर्षण (attraction)का आभामंडल (Aura) तैयार करती है ,  अतः मंदिर जा के ध्यान करने और बैठने से हमारे भीतर Positivity का संचार होता है और ये ऊर्जा हमें नकारात्मकता (Negativity) से बचाती है  साथ ही सकारात्मक और शुद्ध विचार पैदा करती है एवं ये विचार और शुद्ध आभामंडल  समृद्धि को हमारी तरफ आकर्षित करती है । बाकि तो हम सब जानते है की हाथ जोड़ने और ताली बजाने से हमारी भीतर सकारात्मक ऊर्जा में वृद्धि  होती है।

मित्रो कोशिश करे ईश्वर से प्रार्थना  देव दर्शन अवश्य करे और घर में भी एक Ghee का दीपक नित्य जलाने की कोशिश करे सौभाग्य में अवश्य वृद्धि होगी। Click to read other Blogs

 Read Beautiful inspirational Stories..Click here
 पंकज उपाध्याय

इंदौर

FacebookTwitterGoogle+Blogger PostShare

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*

Comments


  • Jeanette

    WOW just what I was searching for. Came here by searching for finals

Subscribe to our newsletter